auto

Tax Saving Tips आज हम आपकी सारी टेंशन को दूर कर देंगे और आप सही रिजीम चुन पाएंगे.

Tax Saving Tips आज हम आपकी सारी टेंशन को दूर कर देंगे और आप सही रिजीम चुन पाएंगे. – भारतीय आयकर कानून के तहत ऐसे कई प्रावधान हैं, जिनके तहत आम टैक्सपेयर्स को कई तरीकों से टैक्स पर छूट दी जाती है. उनकी सैलरी, निवेश और खर्चों पर कई तरह की रियायतें दी जाती हैं. किसी भी तरह की आय कमाने वाले शख्स को हर साल अपना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना होता है, भले ही उसपर टैक्स देनदारी बनती हो या नहीं. लेकिन लोगों पर टैक्स का बोझ ज्यादा न पड़े इसके लिए ऐसे कई आय के स्रोत हैं, जिनको सरकार ने टैक्स देनदारी के दायरे से ही बाहर कर दिया है

Tax Saving Tips आज हम आपकी सारी टेंशन को दूर कर देंगे और आप सही रिजीम चुन पाएंगे.

टैक्स चोरी क्या है?

टैक्स चोरी एक ऐसी गतिविधि है जिसमें लोग अपनी टैक्स देनदारी को कम करने के लिए इनकम को कम बताने या अपनी इनकम के स्रोतों को छिपाने की कोशिश करते हैं. यह इनकम छुपाने या गलत रिपोर्ट करने, बिना सबूत के कटौती दिखाने, अनुचित आईटीआर फाइल करने आदि से भी संबंधित हो सकता है. इस तरह की गतिविधियों को अपराध माना जाता है क्योंकि यह गैरकानूनी है

करदाता को पता होना चाहिए कि उसकी इनकम कितनी है और उसे कितना टैक्स देना होगा। इसके लिए टैक्सपेयर्स अपने टैक्स-सेविंग की समीक्षा करनी चाहिए। जिससे यह सुनिश्चित हो जाता है कि वह अपने इनकम के अनुसार ही निवेश करें।

इसके अलावा टैक्सपेयर्स को समीक्षा के बाद पता चल जाता है कि उसे कौन-सी टैक्स रिजीम (Tax Regime) सिलेक्शन करना चाहिए।

बता दें कि अगर कोई कोई करदाता ने वित्त वर्ष के बीच में नौकरी बदली है तो उन्हें 26ए के तहत फॉर्म 12बी जमा करना होता है।

कौन-कौन सी होती हैं टैक्स सेविंग स्कीम?

इस वक्त बाजार में टैक्स सेविंग के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं. अगर कुछ लोकप्रिय टूल्स की बात करें तो पब्‍लिक प्रॉविडेंड फंड (PPF), नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS), सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS), इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ELSS) और 5 साल की टैक्स सेविंग FD सबसे खास हैं.

 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले techbugs पर  Folllow us on  Twitter and Join Google news , Our Youtube Channel  for More

admin

Published by
admin