Pair Chune Ke Niyam किन लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए, विस्तार से जानते हैं।

Pair Chune Ke Niyam किन लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए, विस्तार से जानते हैं। – सनातन धर्म में अपने से बड़ों के पैर छूना अच्छा संस्कार माना गया है। लेकिन क्या आपको पता है कि किन परिस्थितियों में और किन लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए।

Pair Chune Ke Niyam किन लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए, विस्तार से जानते हैं।

दामाद को नहीं छूने चाहिए ससुर के पैर

पौराणिक मान्याता के अनुसार, दामाद को किसी भी परिस्थिति में अपने ससुर के पैर नहीं छूने चाहिए। कहते हैं कि जब से महादेव ने राजा दक्ष का शीश काटा था तब से यह परंपरा चली आ रही है।

मंदिर में बड़े-बुजुर्ग के पैर
हर कोई अपने से बड़ों को जहां कहीं भी देखता है, उसके सम्मान में पैर छूता है. लेकिन यदि आपका कोई सम्माननीय व्यक्ति मंदिर में मिल जाए तो उनका चरण भूलकर भी ना स्पर्श करें, क्योंकि मंदिर में सबसे बड़ा स्थान भगवान का होता है

ऐसे व्यक्ति के चरण न छुएं

चरण स्पर्श करने का भी विधान है। ऐसे व्यक्ति के चरण स्पर्श नहीं करने चाहिए, जो सो रहा हो। ऐसा करना वर्जित माना गया है। क्योंकि हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, लेटे हुए व्यक्ति के पैर केवल एक ही स्थिति में स्पर्श किए जा सकते हैं, जब उसकी मृत्यु हो चुकी हो।

पत्नी के न छुएं चरण

शास्त्रों में कहा गया है कि पत्नी को अपने पति के चरण स्पर्श (Pair Chune ki Parampara) करने चाहिए. ऐसा करने से परिवार का सौभाग्य बढ़ता है लेकिन पति को भूलकर भी पत्नी के पैर नहीं छूने चाहिए. ऐसा करने से परिवार पर संकट के बादल छाने लगते हैं. साथ ही कंगाली परिवार में अपना डेरा जमाने लगती है.

 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले techbugs पर  Folllow us on  Twitter and Join Google news for More

admin

Published by
admin