Dev Uthani Ekadashi 2023 अगर आप भी भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो एकादशी तिथि पर पूजा के समय इन मंत्रों का जाप और हरि स्तुति का पाठ अवश्य करें।

Dev Uthani Ekadashi 2023 अगर आप भी भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो एकादशी तिथि पर पूजा के समय इन मंत्रों का जाप और हरि स्तुति का पाठ अवश्य करें। – आज देवउठनी एकादशी है. हर साल कार्तिक माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को देवउठनी एकादशी का पर्व मनाया जाता है. ऐसी मान्यताएं हैं किभगवान विष्णु आषाढ़ शुक्ल एकादशी को चार माह के लिए सो जाते हैं. फिर पुनः कार्तिक शुक्ल एकादशी को जागते हैं. इन चार महीनों में देव शयन के कारण समस्त मांगलिक कार्य वर्जित होते हैं. भगवान विष्णु के जागने के बाद ही कोई मांगलिक कार्य संपन्न हो पाता है. देव जागरण या उत्थान होने के कारण इसको देवोत्थान एकादशी कहते हैं. इस दिन उपवास रखने का विशेष महत्व है.

Dev Uthani Ekadashi 2023 अगर आप भी भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो एकादशी तिथि पर पूजा के समय इन मंत्रों का जाप और हरि स्तुति का पाठ अवश्य करें। – देवउठनी एकादशी पर पूजा का मुहूर्त सुबह 06.50 से सुबह 08.09 तक है. वहीं इस दिन शाम को शालीग्राम जी की पूजा और देव उठाना उत्तम माना गया है. ऐसे में इस दिन शाम को 05.25 से रात 08.46 तक शुभ मुहूर्त है.

देवउठनी एकादशी पूजा विधि

इस दिन लोग सुबह जल्दी उठकर पवित्र स्नान करते हैं। इसके बाद भगवान विष्णु की मूर्ति स्थापित करते हैं और पंचामृत, फल, तुलसी पत्र और भोग प्रसाद चढ़ाते हैं। अंत में भगवान विष्ण के मंत्रों का जाप करें और उनकी आरती श्रद्धा के साथ करें। साथ ही इस दिन भगवान विष्णु को गन्ना, सिंघाड़ा और सेवइयां अर्पित करने का भी विधान है।

भगवान विष्णु के मंत्र

  • ॐ आं संकर्षणाय नम:
  • ॐ अं प्रद्युम्नाय नम:
  • ॐ अ: अनिरुद्धाय नम:
  • ॐ नारायणाय नम:
  • ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

ये है तुलसी का मंत्र – वृंदा वृंदावनी विश्वपूजिता विश्वपावनी। पुष्पसारा नंदनीय तुलसी कृष्ण जीवनी।।

एतभामांष्टक चैव स्त्रोतं नामर्थं संयुतम। यः पठेत तां च सम्पूज्य सौश्रमेघ फलंलमेता।।

देवउठनी एकादशी में करें ये काम

  • देवउठनी एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठकर नहाना अच्छा माना जाता है. ऐसे में सुबह उठकर पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करें. स्नान करने के बाद गायत्री मंत्र का जाप करें. ऐसा करने से आपको जीवन में सारी खुशियां मिलेंगी.
  • देवउठनी एकादशी के दिन सुबह स्नान के बाद भगवान विष्णु का केसर मिले दूध से अभिषेक करें. ऐसा करने से जगत के स्वामी प्रसन्न होते हैं और सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं.
  • देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु को पीले वस्त्र, पीले फल और पीला अनाज अर्पित करें. बाद में इन सभी चीजों को गरीबों और जरूरतमंदों में बांट दें. ऐसा करने से भगवान विष्णु की कृपा आप पर बनी रहेगी.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले techbugs पर  Folllow us on  Twitter and Join Google news for More

Related Articles